Global Warming In Hindi — ग्लोबल वार्मिंग | हिंदी कहानी | Hindi Kahani |

April 10, 2021 / / moralstory / Global Warming, Global Warming in Hindi, global warming in hindi meaning, global warming in hindi wikipedia, ग्लोबल वार्मिंग, ग्लोबल वार्मिंग pdf, ग्लोबल वार्मिंग इन हिंदी निबंध, ग्लोबल वार्मिंग का कारण, ग्लोबल वार्मिंग के कारण in points, ग्लोबल वार्मिंग के दुष्प्रभाव, ग्लोबल वार्मिंग के लाभ और हानि, ग्लोबल वार्मिंग विकिपीडिया, ग्लोबल वार्मिंग से बचाव के उपाय / 11 minutes of reading / By

Global Warming in Hindi : वर्तमन समय में मनुष्य अपने अनगिनत महत्वाकांक्षाओं को प्राप्त करने की लगातार कोशिश करता रहता है। जिसकी वजह से वह जाने-अनजाने हमेशा प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करता रहता है। प्रकृति अपने साथ होने वाली छेड़छाड़ से असंतुलित हो जाती है। जिसके कारण हमारी धरती को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। विभिन्न समस्याओं में से ग्लोबल वार्मिंग भी एक प्रमुख समस्या है। जो अपने जड़े लगातार मजबूत करती जा रही है।

Global Warming in Hindi Meaning : ग्लोबल वार्मिंग, जिसका अर्थ है “भूमंडलीय ऊष्मीकरण” यह समस्या सिर्फ भारत देश की ही नहीं बल्कि पूरे विश्व की समस्या बनती जा रही है। ग्लोबल वार्मिंग में यह होता है कि हमारी धरती सूरज की हानिकारक किरणों को लगातार अवशोषित करती रहती है। जिसके कारण धरती का तापमान दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। धरती पर होने वाली हर घटनाक्रम पर यह अपना दुष्प्रभाव छोड़ रहा है। गर्मी का मौसम अपने मूल तापमान से अधिक गर्म हो रहा है।

ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से निपटना धरती के सभी लोगों का कर्तव्य है। ताकि हम अपने आने वाली पीढ़ियों को इस भयानक समस्या से बचा सके। इस समस्या को दूर करने के लिए विश्व भर के देश काफी प्रयासरत हैं। आइए हम इसके बारे में और अधिक विस्तार से जाने-

भूमंडलीय ऊष्मीकरण का अर्थ और परिभाषा

Global Warming in Hindi : भूमंडलीय ऊष्मीकरण को ग्लोबल वार्मिंग भी कहते हैं। जिसका अर्थ होता है, धरती का गर्म होना। धरती के वातावरण और महासागर की औसत तापमान में बीसवीं सदी से ही हो रही लगातार वृद्धि और उसकी अनुमानित निरंतरता ही ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) है। सरल शब्दों में हम यह भी कह सकते हैं कि धरती के तापमान में निरंतर हो रही विश्वव्यापी बढ़ोतरी तथा इसके कारण मौसम पर होने वाले दुष्प्रभाव या परिवर्तन को ग्लोबल वार्मिंग कहते हैं।

हमारी धरती सूर्य से मिलने वाली किरणों से ऊष्मा प्राप्त करती है। यह किरणें धरती के बाहरी आवरण जिसे वायुमंडल कहते हैं, से होकर गुजरती है तथा धरती के सतह से टकराने के बाद वह किरणें परावर्तित होकर वापस वायुमंडल के बाहर चली जाती है। परंतु वायुमंडल में मौजूद कुछ गैसे, जैसे कार्बन डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन ऑक्साइड, क्लोरोफ्लोरोकार्बन, जिसे ग्रीनहाउस गैस भी कहते हैं। यह गैसे सूर्य से प्राप्त ऊष्मा को परावर्तित नहीं होने देते हैं। वह अपने अंदर ही सोख लेते हैं। जिसे ग्रीन हाउस प्रभाव कहते हैं। जिसकी वजह से धरती का वातावरण का तापमान बढ़ जाता है।

ग्लोबल वार्मिंग के प्रमुख कारण Global Warming in Hindi

ग्रीन हाउस गैस या प्रभाव

धरती पर ग्रीन हाउस गैसें काफी मात्रा में लगातार बढ़ रही है। यह सभी गैसे एक साथ मिलकर वायुमंडल के ऊपर एक परत बना लेती हैं। जिसकी वजह से धरती पर आने वाली किरणें वापस परावर्तित नहीं हो पाती है। यह गैसे सूर्य की किरणों को अपने अंदर सोख लेती हैं। जिसके कारण वायुमंडल गर्म हो जाता है। वायुमंडल गर्म होने से धरती का सतह भी लगातार गर्म होता रहता है।

ग्रीन हाउस गैसों में सबसे प्रमुख गैस, कार्बन डाइऑक्साइड गैस है। कार्बन डाइऑक्साइड गैस प्रत्येक जीवित प्राणी चाहे वह जानवर हो या मनुष्य सभी अपने श्वसन क्रिया के दौरान बाहर निकालते हैं। धरती पर सबसे ज्यादा इसी कार्बन डाइऑक्साइड गैस की अधिक मात्रा में बढ़ोतरी हुई है।

Continue

Originally published at https://www.hindikahani.xyz.

This is one of the best Blog for free Hindi Kahani, Hindi Essay, Hindi Letters, Moral Stories, Biography and much more. https://www.hindikahani.xyz/

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store