क्रिया किसे कहते हैं? Kriya Kise Kahate Hain? | हिंदी कहानी | Hindi Kahani |

March 30, 2021 / / HindiGrammar / kriya, kriya kise kahate hain, काल किसे कहते हैं, क्रिया, क्रिया कितने प्रकार के होते हैं, क्रिया किसे कहते हैं, क्रिया के भेद, क्रिया परिभाषा, क्रिया शब्द, प्रेरणार्थक क्रिया किसे कहते हैं, सकर्मक क्रिया किसे कहते हैं / 5 minutes of reading / By

क्रिया परिभाषा: जिस से किसी काम (कार्य) को करने य होने का बोध हो अथवा किसी स्थिति का बोध हो, उसे क्रिया कहते हैं।
जैसे-
हाथी धीरे-धीरे चलता है।
मीरा झूला झूल रही है।
हवा बह रही है।
उपयुक्त उदाहरण में चलना, झूलना क्रिया है। क्योंकि इन शब्दों से किसी काम को करने या होने का बोध हो रहा है।
नोट- क्रिया के बिना वाक्य अधूरा होता है। वाक्य को पूरा करने के लिए क्रिया का होना अति आवश्यक है।

क्रिया कितने प्रकार के होते हैं?

क्रिया के दो प्रकार से भेद होते हैं। कर्म के अनुसार क्रिया के निम्नलिखित दो भेद होते हैं। रचना के अनुसार क्रिया के निम्नलिखित पाँच भेद होते हैं। कर्म के अनुसार क्रिया के भेद

सकर्मक क्रिया किसे कहते हैं?

जिस क्रिया के काम का फल कर्ता पर न पड़कर कर्म पर पड़े उसे सकर्मक क्रिया कहते हैं।
जैसे- वह रोटी खाता है।
उपर्युक्त उदाहरण में खाने (क्रिया) का फल रोटी (कर्म) पर पड़ रहा है।
कुछ और उदाहरण इस प्रकार हैं।
भोजन, देना, देखना, हंसना, पढ़ना आदि।

सकर्मक क्रिया के निम्नलिखित दो भेद होते हैं

एक कर्मक किसे कहते हैं?

जिस सकर्मक क्रिया का एक ही कर्म हो उसे एक कर्मक क्रिया कहते हैं।
जैसे- वह किताब पढ़ता है।
उपयुक्त उदाहरण में पढ़ना “क्रिया” का एक ही कर्म “किताब” है।

द्विकर्मक क्रिया किसे कहते हैं?

जो सकर्मक क्रिया दो प्रकार के कर्म को दर्शाता है उसे द्विकर्मक क्रिया कहते हैं।
द्विकर्मक क्रिया में पहला कर्म प्राणी वाचक तथा दूसरा कर्म में निर्जीववाचक होता है। इस तरह के वाक्य में प्राणीवाचक कर्म गौण होता है। जबकि निर्जीववाचक में मुख्य रूप से कर्म होता है ।
जैसे- शिक्षक छात्र को गणित पढ़ाते हैं।
उपयुक्त उदाहरण में “छात्र” पहला तथा प्राणीवाचक में है जबकि “गणित” दूसरा निर्जीववाचक कर्म है।

अकर्मक क्रिया किसे कहते हैं?

जिस क्रिया के काम का फल कर्म पर न पड़कर कर्ता पर पड़ता है उसे अकर्मक क्रिया कहते हैं।
जैसे- राम खाता है।
सीता गाती है।
उपयुक्त उदाहरण में खाने, गाने का फल कर्ता पर पड़ रहा है।

रचना के अनुसार क्रिया के भेद

सामान्य क्रिया किसे कहते हैं?

जिस वाक्य में केवल एक ही क्रिया का प्रयोग होता है, उसे सामान्य क्रिया कहते हैं।
जैसे- रमेश गाया।
वह पढ़ा।

संयुक्त क्रिया किसे कहते हैं?

जब दो या दो से अधिक धातुओं के मिलने से क्रिया बनती है तो, उसे संयुक्त क्रिया कहत हैं।
जैसे- रमेश घर पहुंच गया।
वह पढ़ने लगा।
उपयुक्त उदाहरण में पहुंच गया, पढ़ने लगा सभी क्रियाएं एक साथ मिलकर एक कार्य को पूर्ण कर रहे है। अतः यह सभी क्रियाएं संयुक्त क्रिया है।

संयुक्त क्रिया के मुख्यतः 11 भेद होते हैं।

continue reading

Originally published at https://www.hindikahani.xyz.

This is one of the best Blog for free Hindi Kahani, Hindi Essay, Hindi Letters, Moral Stories, Biography and much more. https://www.hindikahani.xyz/

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store